Sunday, April 14, 2024
spot_img

राजस्थान के कृषि-जलवायु क्षेत्र

राजस्थान भारत का सबसे बड़ा प्रांत तो है ही, साथ ही विविध भूगर्भीय संरचना वाला प्रांत भी है। इस कारण राजस्थान के विभिन्न जिलों की मृदा एवं जलवायु में बहुत अंतर पाया जाता है। इन कारकों का प्रभाव उस जिले में उत्पन्न होने वाली फसल पर होता है। इस आलेख में राजस्थान के कृषि-जलवायु क्षेत्र , उनके अंतर्गत आने वाले जिले तथा उनमें उत्पन्न होने वाली खरीफ एवं रबी की फसलों की जानकारी दी गई है।

 जलवायु क्षेत्र   सम्मिलित जिलेखरीफ की मुख्य फसलेंरबी की मुख्य फसलें
 शुष्क पश्चिमी मैदानी क्षेत्रबाड़मेर एवं जोधपुरबाजरा, मोठ एवं तिलगेहूं, सरसों एवं जीरा
 उत्तरी पश्चिमी सिंचित मैदानी क्षेत्रश्रीगंगानगर एवं हनुमानगढ़कपास एवं ग्वार           गेहूं, सरसों एवं चना
 अति शुष्क आंशिक सिंचित पश्चिमी मैदानी क्षेत्रबीकानेर, जैसलमेर एवं चूरूबाजरा, मोठ एवं ग्वारगेहूं, सरसों एवं चना
 अन्तः स्थलीय जलोत्सरण के अन्तर्वर्ती मैदानी क्षेत्रनागौर, सीकर, झुन्झुनू एवं चुरू जिले का भागबाजरा, ग्वार एवं दलहन      सरसों एवं चना
 लूनी नदी का अन्तर्वर्ती मैदानी क्षेत्रजालौर, पाली, सिरोही एवं जोधपुर जिले का भागबाजरा, ग्वार एवं तिलगेहूं एवं सरसों 
 अर्द्ध शुष्क पूर्वी मैदानी क्षेत्रजयपुर, अजमेर, दौसा एवं टोंकबाजरा, ग्वार एवं ज्वारगेहूं, सरसों एवं चना
 बाढ़ सम्भाव्य पूर्वी मैदानी क्षेत्रअलवर, धौलपुर, भरतपुर, करौली एवं सवाईमाधोपुरबाजरा, ग्वार एवं मूंगफलीगेहूं, जौ, सरसों एवं चना
 अर्द्ध आर्द्र दक्षिणी मैदानी क्षेत्रभीलवाड़ा, राजसमन्द, चित्तौड़गढ़, उदयपुर एवं सिरोही जिले का भागमक्का, दलहन एवं ज्वारगेहूं एवं चना
 आर्द्र दक्षिणी मैदानी क्षेत्रडूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़ एवं उदयपुर जिले का भागमक्का, चावल, ज्वार एवं उड़दगेहूं एवं चना
 आर्द्र दक्षिणी पूर्वी मैदानी क्षेत्रकोटा, झालावाड़, बून्दी, बारां एवं सवाई माधोपुर जिले का भागज्वार एवं सोयाबीनगेहूं एवं सरसों

उक्त तथ्यों से स्पष्ट है कि राजस्थान के प्रत्येक कृषि-जलवायु क्षेत्र में अलग-अलग प्रकार की फसलें उत्पन्न होती हैं। जलवायु में अंतर के अनुरूप ही फसलों के प्रकार में परिवर्तन का एक क्रम भी स्पष्ट दिखाई देता है।

-डॉ. मोहनलाल गुप्ता

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,585FansLike
2,651FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles

// disable viewing page source