Tuesday, March 5, 2024
spot_img

राजस्थान का भारत में स्थान

राजस्थान देश का सबसे बड़ा प्रांत है। इसका लगभग 61 प्रतिशत हिस्सा थार मरुस्थल से निर्मित है। यह रेगिस्तान प्राचीन कालीन सरस्वती नदी से लाई गई मिट्टी से बना है जबकि राजस्थान के पूर्वी भाग में स्थित मैदानी क्षेत्र गंगा, यमुना के मैदानी भूभाग का हिस्सा है। इसके मध्य में संसार का सबसे प्राचीन पर्वत अरावली स्थित है। इस विविधता के कारण राजस्थान का भारत में स्थान अतिविशिष्ट है।

राजस्थान का भारत में स्थान

(जनसंख्या सम्बन्धी आंकड़े – जनगणना 2011)

 क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का भारत में स्थानप्रथम
 कृषित क्षेत्रफल की दृष्टि से देश में स्थानतीसरा
 वन क्षेत्रफल की दृष्टि से देश में स्थाननौवां
 पंचायती राज व्यवस्था लागू करने में राजस्थान का भारत में स्थानप्रथम
 कुल जनसंख्या की दृष्टि से भारत में स्थानआठवां
 जनसंख्या घनत्व की दृष्टि से भारत के राज्यों में स्थानअठारहवां
 जनसंख्या घनत्व की दृष्टि से राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों में स्थानचौबीसवां
 कुल साक्षरता की दृष्टि से राज्यों में स्थानछब्बीसवां
 कुल साक्षरता की दृष्टि से राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में स्थानतेतीसवां
 पुरुष साक्षरता की दृष्टि से राज्यों में स्थानसत्ताइसवां
 पुरुष साक्षरता की दृष्टि से राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में स्थानसत्ताइसवां
 महिला साक्षरता की दृष्टि से राज्यों में स्थानपैंतीसवां
 महिला साक्षरता की दृष्टि से राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में स्थानपैंतीसवां
 रेलमार्ग की लम्बाई के मामले में देश में स्थानबारहवां
 बैंकों की संख्या के मामले में देश में स्थानबारहवां
 मानवीय विकास सूचकांक की दृष्टि सेसत्रहवां
 राजस्व प्राप्ति में देश में स्थानआठवां

कृषि क्षेत्र में राजस्थान का भारत में स्थान

 सरसों, बाजरा, ग्वार, ईसबगोल, मेहंदी, रेपसीड, धनियापहला
 दलहन और जीरा उत्पादनदूसरा
 तिलहन उत्पादनदूसरा
 सोयाबीन उत्पादनतीसरा
 मक्का उत्पादनचौथा
 गेहूं उत्पादनपांचवा
 कुल कृषि उत्पादनसातवां

अन्य क्षेत्रों में राजस्थान का भारत में स्थान

 ऊन उत्पादन में देश में स्थानपहला
 दूध उत्पादन में देश में स्थानदूसरा
 कुल पशु सम्पदा की दृष्टि से देश में स्थानपांचवां
 पॉलिस्टर फाइबर उत्पादन में देश में स्थानदूसरा
 सीमेंट उत्पादन में देश में स्थानदूसरा
 क्रूड ऑयल उत्पादन में देश में स्थानदूसरा
 सीसा, जस्ता एवं तांबा उत्पादन की दृष्टि से राजस्थान का देश में स्थानप्रथम

राज्य में एकाधिकार वाले खनिज

(देश का 75 प्रतिशत एवं उससे अधिक उत्पादन)

खनिज उत्पादन की दृष्टि से भी राजस्थान का देश में स्थान विशिष्ट है। अनेक खनिजों के मामले में राजस्थान एकाधिकार वाला प्रदेश है। यहाँ उप खनिजों की सूची दी गई है जिन खनिजों का राजस्थान में 75 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक उत्पादन होता है।

जास्पर (100 प्रतिशत), वोलस्टोनाइट (100 प्रतिशत), गारनेट (100 प्रति.), सीसा (85 प्रतिशत), जस्ता (99 प्रति.), फ्लोराइट (96 प्रतिशत), एस्बेस्टॉस (96 प्रतिशत), जिप्सम (100 प्रति.), मारबल (95 प्रति.), सोप स्टोन (87 प्रति.), रॉक फॉस्फेट (90 प्रतिशत), चांदी (76 प्रतिशत), केल्साइट (प्रतिशत), सेलेनाइट (100 प्रतिशत), गेरू (92 प्रतिशत), सैंडस्टोन (92 प्रतिशत), बॉलक्ले (89 प्रतिशत) । पन्ना, तामड़ा, कैडमियम के उत्पादन में भी राजस्थान का एकाधिकार है।

-डॉ. मोहनलाल गुप्ता

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,585FansLike
2,651FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles

// disable viewing page source